+91 946-736-0600   |   Find us on:           

REGISTER   |    LOGIN

Latest News

मैक्स अस्पताल ने किया दो डॉक्टरों को बर्खास्त

health Capsule

नई दिल्ली । जीवित नवजात को मृत बताने की घटना के पांच दिन बाद मैक्स अस्पताल प्रशासन ने दो डॉक्टरों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया है। घटना के दिन ही मामले की जांच के लिए जांच टीम गठित की गई थी, जिसमें आइएमए के दो डॉक्टर शामिल हैं। इस कमेटी को चार दिसंबर तक जांच रिपोर्ट सौंप देनी थी, लेकिन देर शाम तक अंतिम जांच रिपोर्ट अस्पताल प्रशासन को नहीं सौंपी गई। इसी बीच प्रारंभिक जांच के मामले में डॉ. विशाल गुप्ता व डॉ. एपी गुप्ता की लापरवाही को ध्यान में रखते हुए अस्पताल प्रबंधन ने सोमवार को दोनों को हटा दिया है। अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि अभी जांच चल रही है। सूत्रों की मानें तो अंतिम रिपोर्ट आने के बाद अस्पताल के कुछ और कर्मचारियों पर गाज गिर सकती है।

पुलिस ने अस्पताल प्रबंधन से सीसीटीवी फुटेज समेत नवजात की मां के अस्पतल में भर्ती होने व जुड़वां बच्चों के जन्म लेने व मृत घोषित करने संबंधी मूल कागजातों को मुहैया कराने को कहा है।

दूसरी तरफ, सोमवार को उत्तर पश्चिम जिले की डीसीपी असलम खान ने शालीमार बाग थाने में नवजात के परिजनों से बातचीत की।

परिजनों का जारी रहा धरना

पांचवें दिन भी नवजात के परिजनों का धरना मैक्स अस्पताल के बाहर जारी रहा। हालांकि धरने पर बैठे परिजनों में कुछ सोमवार को दिनभर शालीमार बाग थाने पर संयुक्त पुलिस आयुक्त का इंतजार करते रहे। परिजनों ने बताया कि पहले उन्हें बताया गया कि संयुक्त पुलिस आयुक्त अस्पताल पहुंच रहे हैं। बाद में बताया गया कि वह सीधे शालीमार बाग थाने पहुंचेंगे। ऐसे में परिजन दिनभर शालीमर बाग थाने के बाहर ही डटे रहे। उन्होंने पुलिस के रवैये के प्रति नाराजगी जाहिर की।

 from Dainik Jagran

Enquiry Form