+91 946-736-0600   |   Find us on:           

REGISTER   |    LOGIN

Latest News

अब कोरोना जांच कराना हुआ सस्‍ता

health Capsule


पटना, जेएनएन। कोरोना संक्रमितों की जल्द पहचान को सरकार ने निजी लैब में जांच की दर काफी कम कर दी है। बुधवार सुबह तक निजी लैब को नोटिफिकेशन की प्रति नहीं मिली है लेकिन उन्होंने नई दर पर जांच करनी शुरू कर दी हैं। आरटी-पीसीआर विधि से जांच के लिए 800 और एंटीजन रैपिड किट के लिए 250 रुपये लिए जा रहे हैं। इसके अलावा घर से सैंपल कलेक्शन के लिए 300 रुपये अतिरिक्त लिए जाएंगे। निजी लैब के संचालकों ने बताया कि सरकार के नोटिफिकेशन की कॉपी नहीं मिलने के बावजूद नई दरें लागू कर दी गई हैं। जांच दर सस्ती होने से मरीजों को राहत होगी, आशा है अब और अधिक लोग जांच कराने लैब आएंगे। जांच दर सस्ती होने से कितने फीसद अधिक लोग जांच कराने आए इसकी जानकारी चार से पांच दिन में ही हो पाएगी।

नौ निजी लैब कर रहीं कोरोना की जांच

राजधानी में डॉ. लाल पैथोलॉजी, पॉथ काइंड, सेन डायग्नोस्टिक, डॉ. प्रभात डायग्नोस्टिक, सरल लैब, इंदिरा डायग्नोस्टिक, सीके डायग्नोस्टिक, सुरक्षा डायग्नोस्टिक, थायरोकेयर जैसी नौ लैब कोरोना की जांच कर रही हैं। शुरुआत में इसके लिए ढाई हजार रुपये तक वसूले गए थे। इसके बाद सरकार ने शुल्क कम करते हुए 15 सौ रुपये कर दिया। वहीं दूसरी लहर की आशंका को देखते हुए अधिक से अधिक जांच सुनिश्चित कराने को मंगलवार को एक बार फिर आरटी-पीसीआर और एंटीजन  रैपिड किट से जांच की दर में भारी कमी की है।

आइसीएमआर और एनएबीएल ने दी अनुमति

बताते चलें कि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) ने जुलाई माह में एनएबीएल (नेशनल एक्रीडिएशन बोर्ड फॉर लैब) प्रमाणित लैब को कोरोना जांच की अनुमति दी थी। इसके बाद प्रदेश में भी निजी लैब और कुछ निजी अस्पतालों को एंटीजन विधि से जांच की अनुमति दी गई थी। हाल में उत्तर प्रदेश, दिल्ली समेत कुछ राज्यों में निजी लैब में कोरोना जांच की दर को कम किया गया था। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश में भी नई दरें लागू कर दीं। रैपिड एंटीजन टेस्ट किट की कीमत सौ से 150 रुपये होने के कारण इसकी दर 250 रुपये की गई है। पूर्व की भांति निजी लैब को अभी भी टेस्ट रिपोर्ट आइसीएमआर के पोर्टल पर अपलोड करने के साथ पॉजिटिव रिपोर्ट की पूरी जानकारी संबंधित जिले के सिविल सर्जन व सॢवलांस अफसर को देनी होगी।

Enquiry Form