+91 946-736-0600   |   Find us on:           

REGISTER   |    LOGIN

Latest News

बेहतर नींद के साथ मानसिक रूप से भी स्वस्थ बनाते हैं ये 5 योग, जानें कैसे?

health Capsuleनींद के लिए योग

सही प्रकार नींद न आना एक बड़ी समस्‍या है। और इस कारण आपको कई अन्‍य परेशानियां भी हो सकती हैं। नींद पूरी न होने का असर आपके मानसिक और शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य पर पड़ता है जिसका खामियाजा आपके सामाजिक और पारिवार‍िक जीवन को भुगतना पड़ता है। नींद की इसी समस्‍या को दूर करने के लिए आप योग का सहारा ले सकते हैं। योग मानसिक तनाव दूर कर आपको शांति पहुंचाने में काफी मदद करता है।

विश्राम मुद्रा

इस मुद्रा को करने के लिए चटाई पर सीधा लेट जाए और अपने दोनों हाथों को साइड में रख लें। अपने शरीर को आराम दें और गहरी सांस लें। धीरे-धीरे अपनी कलाई और एडि़यों को चारों और घुमाएं। यह आपकी बॉडी को आराम देगा। अब अपने पैरों के अंगूठे और उंगलियों को स्ट्रेच करें और कुछ देर आराम की स्थिति में रहें।
अधोमुख स्‍वानासन

धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए अपने घुटनों को ऊपर उठाएं। जितना संभव हो अपने पैरों को बढ़ाएं और श्रोणि को थोड़ा अंदर के ओर झुका लें। कुछ मिनट इसी मुद्रा में रहे। यह अद्भुत मुद्रा थकान और अनिद्रा को कम करती है और पाचन में सुधार।
विपरीताकरनी

इस योग को करने के लिए दीवार के करीब पीठ करके लेट जाएं ताकि आपके कूल्हों दीवार को छुए और पैरों दीवार के विपरीत हो जाएं। इस मुद्रा में कम से कम 15 मिनट तक रहें। यह योग आपको सोने के लिए बिस्तर पर जाने पर आराम महसूस करायेगा।
उद्गीथ प्राणायाम

इस योग को करने के लिए एक चटाई पर बैठ जाएं और श्वास लें। अब अपने मुंह से सांस को छोड़ें और साथ ही सांस को छोड़ते समय 'ओम' का उच्‍चारण करें। इस क्रिया को 5-8 मिनट तक करें। यह योग स्लीवप एपनिय के‍ लिए आपके गले की मांसपेशियों को टोन करने में मदद करती है।
अर्द्धउत्‍तानासन

इस योग को करने के लिए आगे की ओर झुकें। अपने ऊपरी आधे हिस्से को निचले आधे हिस्से की तरफ मोड़ें और अपने पैरों को एक मिनट के लिए पकड़ लें। यदि आपको ऐसा करने में परेशानी हो रही है तो अपने हाथों को कुछ देर के लिए आराम दें फिर ऐसा करें।
जानिसिरासन

इस योग को करने के लिए एक चटाई पर बैठ जाएं और अपने पैरों को आगे की ओर फैला लें। अब अपने बाएं पैर को श्रोणि  की तरफ मोडे़ ताकि आपका बाएं घुटना मुड़े और फर्श पर आराम कर सकें। अपने सिर को दा‍हिने पैर की तरफ मोड़ें। इस मुद्रा में कुछ मिनट तक रहे। दूसरे पैर से भी इस मुद्रा को दोहराएं।
तितली आसन

फर्श पर बैठकर अपने पैरों के दोनों तलवों को अपने सामने लाकर मिला लें और अपने हाथों से दोनों पैरों को पकड़ें। उसके बाद एक लंबा सा श्वास अन्‍दर की तरफ लें। अपनी सांस को छोड़ें और अपने कूल्‍हों को आगे की ओर झुकाएं।
शिशुआसन

फर्श पर सीधा बैठें और अपने पैरों को आगे की तरफ फैलाकर आरामदायक मुद्रा में बैठ जाएं। अपनी रीढ़ को सीधा रखकर श्वास को लंबा खीचें। अब सांस को छोड़ें और कूल्‍हों को आगे की ओर झुकाएं। सांस को लेते और छोड़ते समय आराम से करें और अपनी सांस पर ध्‍यान दें।
भस्त्रिका प्राणायाम

भस्त्रिका प्राणायाम को प्रतिदिन करने से आप तनावमुक्‍त रहेंगे और आपको नींद भी अच्‍छी आएगी। इसको करने के लिए रीढ़ और कमर को सीधा रखें और लंबी सांस लें और मुंह बंद करके नाक से सांस निकालें। फिर गति बढ़ाते हुए जल्दी-जल्दी आवाज के साथ सांस भरें और निकालें।
अनुलोम-विलोम

अनुलोम-विलोम प्राणायाम को प्रतिदिन करने 10 मिनट करने से अच्‍छी नींद आती है। इस आसन को करने के लिए सीधे बैठ जाएं और फिर दाएं हाथ के अंगूठे से नाक का दाया छेद को बंद करें और सांस को अन्‍दर की ओर खींचे। फिर उसी हाथ की दो उंगलियों से बाईं ओर का छेद बंद कर दें और अंगूठा हटाकर दाईं ओर से सांस छोड़ें। इसी क्रिया को नाक की बाएं तरफ से भी दोहराएं।

Enquiry Form