+91 946-736-0600   |   Find us on:           

REGISTER   |    LOGIN

Latest News

हिमालयन साॅल्ट लैम्प का इस्तेमाल करने से मिलते हैं कई फायदे

health Capsule

पिछले कुछ समय से हवा में प्रदूषण का स्तर जिस हद तक बढ़ा है, उसे देखते हुए अब हवा भी सांस लेने योग्य नहीं रह गई है। इनवायरनमेंट प्रोटेक्शन एजेंसी का भी मानना है कि इनडोर एयर क्वालिटी कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का मुख्य कारण बनती है। यूं तो आजकल वायु को शुद्ध बनाने के लिए घरों में एयरप्यूरीफायर का इस्तेमाल किया जाने लगा है। लेकिन इसके अतिरिक्त हिमालयन साॅल्ट लैम्प को इस्तेमाल करना भी एक अच्छा विचार हो सकता है। पुराने समय की पद्धति पर आधारित यह साॅल्ट लैम्प वास्तव में कई मायनों में लाभदायक होते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में-

क्या है हिमालयन साॅल्ट लैम्प

चूंकि हिमालयन साॅल्ट लैम्प अभी बहुत अधिक प्रचलित नहीं है। इसलिए अधिकांश लोग इससे परिचित नहीं है। हिमालयन साॅल्ट लैम्प ठोस लाल रंग वाले हिमालयन नमक की मदद से बनाए जाते हैं। इसमें एक बल्ब भीतर से जलाया जाता है। यूं तो लोग इसे सजावट के लिए इस्तेमाल करते हैं, लेकिन वहीं दूसरी ओर यह हवा को शुद्ध करने में भी एक अहम भूमिका निभाता है। दरअसल, हवा में मौजूद जलवाष्प अपने साथ कई तरह के बैक्टीरिया व वायरस कैरी करते हैं, जो बीमारियों का कारण बनते हैं। लेकिन साॅल्ट हवा में मौजूद इन जलवाष्प को अब्जार्ब करके हवा की गंदगी को दूर करने का काम करता है। 

कई बीमारियों में फायदेमंद

मैक्स हेल्थकेयर के पल्मोनोलाॅजी डिपार्टमेंट के एचओडी डाॅ. प्रशांत सक्सेना के अनुसार, हिमालयन साॅल्ट लैम्प कई मायनों में लाभदायक है। पुराने समय में लोग एयर को प्यूरीफाई करने के लिए नमक का इस्तेमाल करते थे। हिमालयन साॅल्ट लैम्प भी इसी पर आधारित है। इसमें मौजूद क्रिस्टल एयर में पाॅल्यूशन को अब्जाॅर्ब करके एयर की क्वालिटी को बेहतर बनाता है। जब हवा की क्वालिटी बेहतर होती है तो इससे कई तरह की बीमारियों जैसे स्किन डिसीजेज, स्लीप प्राॅब्लम्स, मूड स्विंग्स आदि में मदद मिलती है। इसके अतिरिक्त इसके इस्तेमाल से व्यक्ति का उर्जा का स्तर भी बढ़ता है।

नहीं है प्रामाणिक

डाॅ. प्रशांत सक्सेना कहते हैं कि भले ही हिमालयन साॅल्ट लैम्प फायदेमंद हो लेकिन कुछ बातों को बिल्कुल भी नजरअंदाज किया जा सकता। सबसे पहले तो हिमालयन साॅल्ट लैम्प पर कोई भी रिसर्च नहीं हुई हैं और इससे मिलने वाले लाभ वैज्ञानिक रूप से प्रमाणिक नहीं है। ऐसा कोई भी प्रमाण नहीं है जो यह साबित करता हो कि यह पर्याप्त मात्रा में हवा में मौजूद टाॅक्सिन को अब्जार्ब करता हो। साथ ही इसमें पाए जाने वाले सोडियम क्लोराइड को भी हवा के टाॅक्सिन पूरी तरह से अब्जार्ब करने के लिए विश्वसनीय नहीं माना जा सकता।

खतरनाक हो सकाता है नेगेटिव आयन

हिमालयन साॅल्ट लैम्प से नेगेटिव आयन निकलते हैं जो हवा के शुद्धिकरण का काम करते हैं। लेकिन कभी-कभी यह नेगेटिव आयन घातक भी हो सकते हैं। दरअसल, इससे कुछ लोगों को फेफड़ों में परेशानी, बलगम या खांसी आदि की दिक्कत हो सकती है। इसलिए इसे हमेशा सुरक्षित नहीं माना जा सकता।

यह भी तरीकें

  • हवा के शुद्धिकरण के हिमालयन साल्ट लैम्प के अतिरिक्त भी एयर प्यूरीफायर का इस्तेमाल किया जा सकता है। चूंकि यह वैज्ञानिक रूप से प्रामाणिक हैं, इसलिए इनका इस्तेमाल ज्यादा सुरक्षित रहेगा।
  • इसके अतिरिक्त इनडोर हवा को प्राकृतिक रूप से शुद्ध बनाने के लिए घर में ज्यादा से ज्यादा पौधों का इस्तेमाल करें। यह न केवल हवा में आॅक्सीजन का स्तर बढ़ाते हैं, बल्कि कई पौधे हवा से अस्थिर कार्बनिक यौगिकों व अन्य हानिकारक रसायनों को अवशोषित करने का काम करते हैं।

इसका रखें ध्यान

  • अगर आप घर में हिमालयन साॅल्ट लैम्प का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें। सबसे पहले तो इसे बच्चों व जानवरों की पहुंच से दूर रखें। यह उनके लिए खतरनाक हो सकता है। 
  • इसके अतिरिक्त घर पर फायर सेफटी के इंतजामों पर भी ध्यान दें। दरअसल, कभी-कभी हिमालयन साॅल्ट लैम्प के कभी-कभी फटने का डर बना रहता है।
  • वहीं इन साॅल्ट लैम्प को समय- समय पर चेंज करते रहें। इन्हें बदलने का अपना एक समय होता है और उस समय पर इसे अवश्य बदलें।
Enquiry Form