+91 946-736-0600   |   Find us on:           

REGISTER   |    LOGIN

Latest News

बैली फैट घटाने के साथ पूरी बॉडी को टोन करता है पादहस्तासन, जानें इसके लाभ

health Capsuleयोग रखे निरोग, यह कहावत ही नहीं बल्कि सच है। नियमित योग करने के बहुत सारे फायदे हैं। भागदौड़ भरी इस जिंदगी में योग ही ऐसा माध्‍यम है जो तन और मन दोनों को स्‍वस्‍थ रखता है। योग करने से दिमाग से नकारात्‍मक विचार जाते हैं और सकारात्‍मकता आती है। योग का फायदा तभी मिलता है जब आप इसे सही तरीके से करते हैं। योग के कई प्रकार हैं, इसमें से एक है पादहस्‍तासन। यह योग का ऐसा आसन है जो पाचन क्रिया को सुचारु करता है साथ ही यह कमर के लिए भी बहुत प्रभावी है। पेट की अतिरिक्‍त चर्बी को कम कर वजन कम करने में भी यह बहुत प्रभावी है। इसके नियमित अभ्‍यास से रक्‍त का संचार ठीक रहता है और शरीर एनर्जेटिक रहता है। इसे करने के लिए धीरे-धीरे अपने हाथों को ऊपर की तरफ ले जायें, सांस निकालते हुए कमर के आगे की तरफ झुकें। सिर से घुटनों को छूने का प्रयास करें, कुछ देर इस स्थिति में रहें। फिर सांस लेते हुए सामान्‍य स्थिति में आयें। आइए जानते हैं क्या हैं इस योग के फायदे और कैसे करते हैं इसे।

कैसे करते हैं पादहस्‍तासन

कंधे और रीढ़ की हड्डी को सीधा रखते हुए सावधान की मुद्रा में खड़े हो जाएं। अब दोनों हाथों को धीरे-धीरे ऊपर उठाकर हाथों को कंधे की सीध में लाकर थोड़ा-थोड़ा कंधों को आगे की ओर झुकाते हुए सिर के ऊपर तक उठायें। ध्यान रहे कि कंधे कानों से सटे हों। हथेलियां सामने की ओर हों। जब बांहें एक-दूसरे के समानान्तर ऊपर उठ जाएं तब धीरे-धीरे कमर को सीधा रख सांस अंदर लेते हुए नीचे की ओर झुकना प्रारम्भ करें। झुकते समय भी ख्याल रखें कि कंधे कानों से सटे ही रहें। घुटने सीधे रखते हुए दोनों हथेलियों से एड़ी-पंजे मिले दोनों पांव को टखने के पास से कस के पकड़कर माथे को घुटने से स्पर्श करने का प्रयास करें। सांस अंदर बाहर करते रहें। सुविधा अनुसार 30-40 सेकंड इस स्थिति में रहें। वापस आने के लिए धीरे-धीरे इस स्थिति से ऊपर उठिए। खड़ी मुद्रा में आकर हाथों को पुनः कमर से सटाने के बाद विश्राम स्थिति में आएं। 5 से 7 बार ऐसा करें।

कमर करता है पतली

पतली कमर की चाह किस स्त्री को नहीं है। हर उम्र की लड़कियों को पतली कमर की इच्छा होती है। लेकिन दिक्कत यह है कि पतली कमर हासिल करना किसी बड़े टास्क सरीखा हो गया है। पादहस्तासन इसके लिए सबसे सरल और सटीक उपाय है। चूंकि हाथों से पैरों को पकड़कर यह आसन किया जाता है इसलिए इसे पादहस्तासन कहते हैं। यह आसन पेट और कमर के पास जमा फैट को कम करने में मदद करता है जिससे कमर पतली और आकर्षक बनती है। यही नहीं शरीर को लचीलापन भी मिलता है। यही कारण है कि सिर्फ महिलाएं पादहस्तासन का हाथ थामें, यह सही नहीं है। पुरुषों को भी पादहस्तासन अपने पर्फेक्ट बॉडी शेप के लिए करना चाहिए। इसके बारे में विस्‍तार से हम आपको बताते हैं।

पादहस्तासन के अन्य फायदे

जैसा कि पहले ही जिक्र किया जा चुका है कि पतली कमर के लिए पादहस्तासन लाभकर है। साथ ही इसके करने से शरीर में लचीलापन भी आता है। इसके अलावा जिन लोगों को अपने कद में वृद्धि करनी है, उनके लिए भी यह सहायक है। हालांकि एक उम्र के बाद कद में वृद्धि असंभव होती है। बावजूद इसके शरीर में खिचाव होने के कारण कद की सामान्य वृद्धि देखी जा सकती है। बच्चों के लिए यह आसन बेहद फायदेमंद है। खासकर उन बच्चों के लिए जिन्हें अपने कद को लेकर संदेह है।पादहस्तासन की खूबी की सूची अभी खत्म नहीं हुई है। पुरुष इस आसन को न करने की ठोस वजह दे सकते हैं कि यह आसन महिलाओं के लिए कारगर है। जबकि चैड़े सीने की चाह रखने वालों के लिए भी यह पर्फेक्ट योगासन है। अतः अगर आपमें परफेक्‍ट बॉडी शेप के साथ चैड़े सीने की चाहत है तो इस आसन से दूरी कम करिये। इसके अलावा यह आसन मूत्र-प्रणाली, गर्भाशय तथा जननेन्द्रिय स्रावों के लिए विशेष रूप से कारगर है। इससे कब्ज दूर होती है। पीठ और रीढ़ की हड्डी को यह आसन मजबूत करता है और लचीला भी बनाता है। जंघाओं और पिंडलियों की मांसपेशियों को भी मजबूत करता है। आंतों के व पेट के प्रायः समस्त विकार इस आसन को नियमित करने से दूर होते हैं।

Enquiry Form