+91 946-736-0600   |   Find us on:           

REGISTER   |    LOGIN

Latest News

चलिए नहीं तो दवाइयां चलेंगी : रोजाना 40 मिनट की वॉक से कैंसर, हार्ट डिजीज और ब्रेन स्ट्रोक का खतरा कम होता है

health Capsule

हेल्थ डेस्क.चलने मात्र के इतने फ़ायदे जानकर सोचना लाज़मी है कि कल से ही जिम जॉइन कर लेंगे या फिर मॉर्निंग वॉक पर जाने लगेंगे। लेकिन विश्व के 90% लोग छह महीने में ही व्यायाम छोड़कर उसी पुराने ढर्रे पर लौट आते हैं। इसलिए ज़रूरी है कि इसे केवल एक निश्चित समय देने के साथ ही अपनी दिनचर्या में शामिल करें। पिट्सबर्ग यूनिवर्सिटी में हुए एक शोध के अनुसार 1 साल तक रोज़ाना 40 मिनट के वर्कआउट से 10% वज़न में कमी होती है। अगर वज़न 70 किलो है तो एक साल में ही इसे 63 किलो किया जा सकता है। जानिए आपके लिए चलना क्यों जरूरी है...

5 प्वाइंट्स : 40 मिनट की वॉक शरीर में बदलाव क्या लाती है?

1.जब हम चलते हैं तो कोशिकाओं और मांसपेशियों में गति होने लगती है, वे लचीली बनती हैं। उनमें ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है जो टॉक्सिंस (विषैले पदार्थों) को पसीने के रूप में बाहर निकालता है।

2.रोजाना चलते से जोड़ स्वस्थ होते हैं। शरीर में खुशी देने वाले रसायन सैरेटोनिन का स्राव बढ़ता है जिससे हमारा तनाव दूर होता है, हम अवसाद से मुक्त होने लगते हैं।

3. 2-3 किलोमीटर चलने या वर्कआउट करने से आंतों में गति (पेरिस्टालसिस मूवमेंट) होने लगती है जिससे हम कब्ज़, अपच, एसिडिटी जैसी समस्याओं से मुक्त होने लगते हैं।

4.चलने से हम थकते हैं और थकान नींद के लिए सबसे प्रभावी दवाई है। जर्नल ऑफ क्लीनिकल स्लीप मेडिसिन में प्रकाशित एक शोध के अनुसार रोज़ाना वर्कआउट करने
या चलने वाले अनिद्रा के रोगियों में यह समस्या 55% कम हो जाती है।

5. रोजाना सुबह-शाम वॉक करने से बैड कोलेस्ट्रॉल कम होता है, टॉक्सिंस बाहर निकलते हैं और दिमाग में आॅक्सीजन का संचार होता है। इससे हार्ट, किडनी और मस्तिष्क से जुड़े रोगों का खतरा कम होता है।

5 प्वाइंट्स : यूं अपनी आदत में लाएं रनिंग

  • कार को ऑफिस से एक किलोमीटर दूर पार्क करें, घर के सामान जैसे किराना, दूध, सब्ज़ियां लेने पैदल ही जाएं।
  • लिफ्ट की जगह सीढ़ियों का इस्तेमाल करें। यह नियम कहीं भी कभी आसानी से फॉलो किया जा सकता है।
  • रोज़ाना पैदल चलने का लक्ष्य बनाए जैसे 10 हज़ार क़दम या 3 किलोमीटर। यह लक्ष्य आप 24 घंटे में कभी भी पूरा कर सकते हैं।
  • घर के मेहनत वाले काम ख़ुद करें जैसे- सफ़ाई करना, कपड़े धोना, पोछा लगाना, बाग़वानी करना आदि।
  • तैरना, डांसिंग, बच्चों के साथ मस्ती करना या खेलना भी बहुत अच्छे और लाभदायक व्यायाम हैं।

फैक्ट्स एंड फिगर्स

  • विश्व की 90% आबादी व्यायाम नहीं करती। चिकित्सकों के पास लगी लाइन आधी हो सकती है अगर आधा घंटा रोज़ चलना शुरू कर दें तो।
  • जिन्हें चक्कर आते हों उन्हें छोड़कर सभी को चलना चाहिए।
Enquiry Form