+91 946-736-0600   |   Find us on:           

REGISTER   |    LOGIN

Latest News

चंद मिनटों में जख्म भरेगा नया 3डी बायो स्किन प्रिंटर

health Capsuleटोरंटो [प्रेट्र]। तकनीक ने स्वास्थ्य क्षेत्र को सुधारने में अहम योगदान दिया है। वैज्ञानिक निरंतर ऐसे उपकरण विकसित करने के प्रयास में रहते हैं, जिनसे मरीज को जल्द राहत पहुंचाई जा सके। इसी कड़ी में कनाडा के वैज्ञानिकों को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। दरअसल, उन्होंने जलने या अन्य कारणों से बने घाव भरने के लिए एक 3डी बायो स्किन प्रिंटर विकसित किया है। यह प्रिंटर केवल दो मिनट में टिश्यू बनाकर जख्म पर प्रत्यारोपित कर देता है।
कनाडा की टोरंटो यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं द्वारा बनाए गए इस प्रिंटर का इस्तेमाल जलने से हुए ऐसे घाव ठीक करने में भी किया जा सकता है जिनमें त्वचा की तीनों सतह एपिडर्मिस, डर्मिस, और हाइपोडर्मिस को नुकसान पहुंचता है। फिलहाल इनका इलाज स्प्लिट थिकनेस स्किन ग्राफटिंग विधि से किया जाता था। इसमें स्वस्थ्य व्यक्ति की त्वचा को मरीज के एपिडर्मिस और डर्मिस पर प्रत्यारोपित किया जाता है।
यह आती है समस्या 
घाव को पूरी तरह से ढकने के लिए अधिक मात्रा में स्वस्थ त्वचा की जरूरत होती है, जो कई बार उपलब्ध नहीं हो पाती। इस कारण स्प्लिट थिकनेस स्किन ग्राफटिंग विधि से उपचार में समस्या आती है। अब हाथ में पकड़कर इस्तेमाल किए जाने वाले बायो प्रिंटर से यह समस्या दूर हो सकती है।
मौजूदा प्रिंटर्स के साथ ये है समस्या 
टोरंटो यूनिवर्सिटी के एलेक्स गुनथेर के मुताबिक, फिलहाल जो 3डी प्रिंटर मौजूद हैं, वो बहुत ही भारी हैं। इसके अलावा उनकी गति बहुत धीमी है और उनका खर्च भी बहुत अधिक होता है। इसके चलते ज्यादातर का प्रयोग बहुत मुश्किल है।नए प्रिंटर की ये हैं खासियत 
वैज्ञानिक नाविद हकीमी ने बताया कि नया प्रिंटर मरीज और घाव के लक्षणों के मुताबिक टिश्यू तैयार करता है। जूते के डिब्बे के बराबर आकार वाले इस प्रिंटर का वजन एक किलोग्राम से भी कम है। इसे चलाने के लिए किसी खास प्रशिक्षण की भी आवश्यकता नहीं है। ज्यादा बड़े घाव को भरने के लिए शोधकर्ताओं की टीम इसकी क्षमता बढ़ाने का प्रयास कर रही है। उन्हें उम्मीद है कि जल्द ही इसका उपयोग मनुष्यों के लिए किया जाएगा। सफल होने पर यह जलने से हुए घावों के इलाज में क्रांति ला देगा। 
Enquiry Form