+91 946-736-0600   |   Find us on:           

REGISTER   |    LOGIN

Latest News

चिकित्सा पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए ठोस कदम उठा रही सरकार: राजनाथ

health Capsuleनई दिल्ली। केंद्र सरकार देश में चिकित्सा पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए गंभीरता से प्रयास कर रही है और कई ठोस कदम उठा रही है ताकि दुनिया भर में भारत को इस क्षेत्र में अव्वल स्थान हासिल हो। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज यहां सर गंगा राम अस्पताल के 127वें स्थापना दिवस समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि उनके मंत्रालय ने 161 देशों को ई-वीजा की सुविधा देकर चिकित्सा पर्यटन को बढ़ावा देने की दिशा में अनेक कदम उठाए हैं। इसके अलावा गृह मंत्रालय ने ई-वीजा पर प्रवास की अवधि 30 दिन से बढ़ाकर 60 दिन कर दी है और साथ ही ई-चिकित्सा वीजा मामलों में ट्रिपल एंट्री की इजाजत भी दे दी है।उन्होंने स्वास्थ्य क्षेत्र के बारे में कहा कि 125 करोड़ लोगों वाले देश में सभी को स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना एक बड़ी चुनौती है। हमारे पास डॉक्टर-मरीज का अनुपात संतुलित नहीं है।
   अगर स्वास्थ्य क्षेत्र में खर्च को देखें तो यह जीडीपी का केवल 1.16 प्रतिशत है। सरकार इसे बढ़ा कर कम से कम 2.5 प्रतिशत करने के लिए प्रतिबद्ध है। केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि भारत में आय की भारी असमानता को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की ताकि गरीबों और जरूरतमंदों को सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य सेवा प्रदान की जा सके।

उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत राष्ट्रीय स्वास्थ्य रक्षा योजना है। इसके अंतर्गत 10 करोड़ गरीब और कमजोर परिवारों (करीब 50 करोड़ लाभार्थियों) को शामिल किया जाएगा। अस्पताल में भर्ती होने के दौरान चिकित्सा पर प्रति वर्ष प्रति परिवार 5 लाख रुपये का चिकित्सा बीमा प्रदान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सार्वभौमिक स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना निजी क्षेत्र की भागीदारी के बिना संभव नहीं है। स्वास्थ्य सेवा और व्यापक स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हमें स्वास्थ्य क्षेत्र में भारी निवेश करने की आवश्यकता है। यह निजी क्षेत्र के सक्रिय योगदान से ही सम्भव है।


from Dainik Jagran

Enquiry Form