+91 946-736-0600   |   Find us on:           

REGISTER   |    LOGIN

Latest News

सिर्फ कमर व जांघ की मोटाई माप कर मधुमेह की बीमारी की स्क्रीनिंग

health Capsuleनई दिल्ली। मोटापा मधुमेह की बीमारी का एक बड़ा कारण है। गंगाराम अस्पताल व उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद के डॉक्टरों द्वारा किए गए शोध में यह बात सामने आई है कि यदि पेट बड़ा व जांघ पतली हो तो मधुमेह की बीमारी होने का खतरा अधिक रहता है। यह अध्ययन करने वाले डॉक्टरों का दावा है कि इंच टेप से सिर्फ कमर व जांघ की मोटाई माप कर मधुमेह की बीमारी की स्क्रीनिंग की जा सकती है।
 दूरदराज व ग्रामीण क्षेत्र के प्राथमिक सेंटर व डिस्पेंसरियों में इस तकनीक का इस्तेमाल किया जा सकता है। मोटापा पीड़ित इसका इस्तेमाल कर मधुमेह की बीमारी का अनुमान लगा सकते हैं व डॉक्टर से जांच करा सकते हैं।
 गंगाराम अस्पताल के मेडिसिन विभाग के चेयरमैन डॉ. एसपी बयोत्र ने कहा कि इस अध्ययन के बाद सिर्फ इंच टेप के जरिये मधुमेह की स्क्रीनिंग की जा सकती है। इसकी शोधकर्ता डॉ. शिवांजली कुमार चतुर्वेदी ने कहा कि मार्च 2013 से सितंबर 2016 के बीच 1055 लोगों पर यह अध्ययन किया गया। उनकी उम्र 25 से 90 साल के बीच थी। उनमें से 534 लोग मधुमेह टाइप-2 से पीड़ित थे। 
  मधुमेह पीड़ितों में 50.6 फीसद पुरुष व 49.4 फीसद महिलाएं थीं। इसके अलावा 521 लोगों को मधुमेह की बीमारी नहीं थी। इसमें से 53.7 फीसद पुरुष व 46.1 फीसद महिलाएं शामिल थीं। अध्ययन में पता चला कि 82 फीसद मधुमेह पीड़ितों की कमर व जांघ के साइज का अनुपात का कटऑफ 2.3 से अधिक था यानी अनुपात का कटऑफ 2.3 से अधिक हो तो भी मधुमेह की बीमारी हो सकती है। साथ ही मधुमेह पीड़ितों की कमर का साइज (औसतन 100 सेमी.) मधुमेह रहित पीड़ितों की तुलना में अधिक था। वहीं मधुमेह पीड़ितों की जांघ (साइज औसतन 48.5 सेमी.) मधुमेह रहित व्यक्तियों की तुलना में पतली थी। मधुमेह रहित व्यक्तियों की जांघ मोटी कमर पतली थी।
from Dainik Jagran
Enquiry Form